बाणभट्ट

बाणभट्ट हर्षवर्द्धन के राजकवि थे, इस प्रकार बाणभट्ट का समय सातवीं शताब्दी ई० है। इस समय संस्कृत साहित्य की बहुत उन्नति हुई। बाणभट्ट के दो प्रमुख ग्रंथ उपलब्ध होते हैं। हर्षचरित्र तथा कादम्बरी।

 

 

top